Top hindi shayari 2018

Top hindi shayari 2018

Top hindi shayari 2018

क्या 😉 बात 💬 #है सारे 😶 चुप #चाप 🙁 क्यों 💔 बैठे_हो

#कोई ☝ बात #दिल 👉 ❤ पे #लगी 💘 या #दिल लगा #बैठे_हो 😍

Dard bhari shayari

अब ❎नहीं करूँगा 🕵अपने💔😭 दर्द को🎙 बया 🤔किसी के👀 सामने ✔

दर्द💔😭 जब 🕵मुझको ही 💯सहना है🤔 तो तमाशा🔕 क्यूँ करना💯✔

Two line hindi shayari

*ठिठुर रहा है ग्रुप, सदस्य थम से गये है …*

*आज सर्दी बहुत है, अल्फाज भी जम से गये है ..!!*

Love hindi shayari

अंदाज 💁‍♂ बदलने लगते 😳 हैं,, होठों 👄 पे शरारत 😅 होती है ••*

*नजरों 👀 से पता 🙏 चल जाता है जिस दिल ❤ में मुहब्बत 💟 होती हैं…|•|🎀👭🎏|•|*

True shayari in hindi

*मैं ⁠⁠⁠⁠⁠खुद भी 🙂 अपने लिए🚶अजनबी हूँ,*

*मुझे 👌 गैर कहने 👩 वाले*

*तेरी 🗨 बात 👌 में 👍 दम 🤔 है.*

inspirational shayari in hindi

inspirational shayari in hindi 2017- ज़िन्दगी” बदलने के लिए_*

inspirational shayari in hindi 2017

लड़ना पड़ता है
*_और आसान करने के लिए_*
*समझना पड़ता है..!*
*_वक़्त आपका है,चाहो तो_*
*सोना बना लो और चाहो तो.*
*_सोने में गुज़ार दो..!_*
*अगर कुछ अलग करना है तो*
*_भीड़ से हटकर चलो..!_*
*भीड़ साहस तो देती है पर*
*_पहचान छीन लेती है…!_*
*मंज़िल ना मिले तब तक हिम्मत*
*_मत हारो और ना ही ठहरो…._*
_क्योंकि_
*_पहाड़ से निकलने वाली नदि यों ने_*
*आज तक रास्ते में किसी से नहीं पूछा कि… _*
*“समन्दर कितना दूर है.*

Waqt hindi qoute

वक्त तो रेत

फिसलता ही जायेगा

*जीवन एक कारवां है
*चलता चला जायेगा
*मिलेंगे कुछ खास
*इस रिश्ते के दरमियां
*थाम लेना उन्हें वरना
*कोई लौट के न आयेगा*

Mitti ka matka hindi shayari

*मिट्टी* का *मटका*

और
*परिवार* की *कीमत*

सिर्फ *बनाने* वाले को पता होती है , *तोड़ने* वाले को नहीं।”

*संघर्ष पिता से सीखिये..!*
*संस्कार माँ से सीखिये…!!*

_बाकी सब कुछ दुनिया सिखा देगी…!!!_

Jo najar Se gujar jaya karte hai

जो नजर से गुजर जाया करते हैं,

वो सितारे अक्सर टूट जाया करते हैं,

कुछ लोग दर्द को बयां नहीं होने देते,

बस चुपचाप बिखर जाया करते हैं।

 Dosti 4 line shayari in urdu

اے دوست تجھے‎

بھول‎

‎جاؤں یہ تیری بھول ہے

تیری کیا تعریف کروں تو خود ایک پھول ہے

دوست دوست نہیں دل کی وفا ہو تے ہیں

محسوس تب ہوتے ہیں جب وہ جدا ہوتے ہیں….

hindi qoute

Zameer 2 line shayari in hindi

तमन्ना है… इस बार बरस जाये ईमान की बारिश,
हमारे ज़मीर पर धूल बहुत है…