Ishq shayari in hindi

Ishq shayari in hindi

 

Ishq shayari in hindi 

इश्क़ की आखरी हदों में हूँ साहब

राख बन गया हूं इससे ज्यादा नही जल सकता…

न तुझे खोना है, न ही तुझे पाना है..

बस इतनी सी चाहत है कि तुझे बेपनाह चाहना है….

Mohabbat ka haq hindi

“मेरे”अलावा किसी को हक नही है तुझे देखने का.

और आज “तुझे”छोड़कर सारी दुनिया देखती है

Mehfil shayari in hindi

हम आते हैं “महफ़िल” में तो सिर्फ एक ही वजह से…

यारों को रहे ख़बर कि अभी हम जिंदा है…

Pahchan meri…

*हमें कोई ना पहचान पाया करीब से,*

*कुछ अंधे थे…! कुछ अंधेरों में थे….!!**

Hindi shayari 2017

 खेलना  अच्छा नहीं किसी के नाजुक दिल से

पता चलेगा तुमको भी जब खेलेंगा कोई तुम्हारे दिल से