Mitti ka matka hindi shayari

*मिट्टी* का *मटका*

और
*परिवार* की *कीमत*

सिर्फ *बनाने* वाले को पता होती है , *तोड़ने* वाले को नहीं।”

*संघर्ष पिता से सीखिये..!*
*संस्कार माँ से सीखिये…!!*

_बाकी सब कुछ दुनिया सिखा देगी…!!!_